webforest-img1

01-01-1970

05:30:AM

215 Views


UPSC stands for the Union Public Service Commission, which is the central recruiting agency in India that conducts various competitive exams for recruitment to various civil services of the Indian government, including the Indian Administrative Service (IAS), Indian Police Service (IPS), Indian Foreign Service (IFS), and other central services. 

 

Civil Services Examination (CSE) is among one such examination which is considered among the most competitive exams in India, and candidates are selected based on their performance in a series of tests that include a Preliminary Test, a Written Exam and an Interview.

 

Preparing for the UPSC (Union Public Service Commission) Civil Services Examination from the beginning requires a well-planned approach and consistent efforts. Here are some steps you can follow to begin your preparation:


  1. Understand the UPSC Exam Pattern: The UPSC exam comprises three stages - Prelims, Mains, and Interview. Before you start preparing, it's essential to understand the exam pattern, syllabus, and eligibility criteria. Visit the official UPSC website www.upsc.gov.in or other credible sources to get accurate information.
  2. Read newspapers daily: Reading a newspaper daily is crucial to stay updated with current affairs. It helps in building a strong base for General Studies. So, start reading it daily, particularly The Hindu or Indian Express, to stay updated with current affairs. Make notes of important events, government schemes, and policies.
  3. Choose your optional subject: The UPSC exam has two papers on a subject of your choice. Choose a subject that interests you and aligns with your strengths. Do some research to select the right subject.
  4. Refer to standard books: The UPSC exam requires a deep understanding of various topics. Referring to standard books and study materials will help you build a strong foundation. NCERT textbooks can also be a good starting point. NCERT books are considered the foundation for UPSC preparation. Start with NCERT books of classes 6th to 12th for subjects like History, Geography, Political Science, Economics, and Science. Apart from NCERT books, choose standard reference books and study materials for each subject. You can consult with senior UPSC aspirants or coaching institutes for good study material.
  5. Make a timetable: Create a realistic timetable that suits your schedule and stick to it. Divide your time between different subjects and give more time to areas that you find challenging.
  6. Take mock tests: Taking mock tests will help you evaluate your preparation level and identify your strengths and weaknesses. Analyze your performance and work on areas where you need to improve.
  7. Join coaching or self-study: Joining a coaching institute is optional but can be helpful. It provides guidance, study material, mock tests, and an opportunity to interact with other UPSC aspirants. It's your personal choice whether you want to join a coaching institute or prefer self-study. Coaching institutes can provide you with a structured study plan and guidance, but self-study gives you the flexibility to study at your own pace.
  8. Practice Writing: The UPSC Mains exam consists of descriptive questions. Practice writing by solving previous year question papers, mock tests, and taking essay writing challenges.
  9. Improve your Communication and Interview Skills: Apart from the written exam, UPSC also tests the communication and interview skills of the candidates. Participate in group discussions and mock interviews and though it is optional but, if possible, start improving your English skills also in terms of reading, writing and speaking.

 

Remember that UPSC preparation is a long-term process and requires patience and consistency. So, start early and stay focused on your goals and keep yourself motivated. You will definitely be able to crack the exam soon.

 

UPSC यानी यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन भारत में सबसे ज्यादा प्रतिस्पर्धात्मक परीक्षाओं में से कुछ आयोजित करने वाली महत्वपूर्ण एजेंसी है। इसमें भारतीय सरकार की विभिन्न सिविल सेवाओं में भर्ती के लिए विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाएं शामिल होती हैं, जिनमें भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS), भारतीय पुलिस सेवा (IPS), भारतीय विदेश सेवा (IFS) और अन्य केंद्रीय सेवाएं शामिल हैं।

सिविल सेवा परीक्षा (CSE) भी इन परीक्षाओं में से एक है, जो भारत में सबसे ज्यादा प्रतिस्पर्धात्मक परीक्षाओं में से एक है और उम्मीदवार एक लिखित परीक्षा और इंटरव्यू के माध्यम से चयन होते हैं।

इस परीक्षा की तैयारी शुरू से करने के लिए एक अच्छी योजना और नियमित प्रयास की आवश्यकता होती है। निम्नलिखित कुछ चरण आप अपनी तैयारी शुरू करने के लिए अनुसरण कर सकते हैं:


  1. यूपीएससी परीक्षा पैटर्न को समझें: यूपीएससी परीक्षा तीन चरणों - प्रीलिम्स, मेन्स, और इंटरव्यू से मिलकर बनती है। तैयारी शुरू करने से पहले, परीक्षा पैटर्न, सिलेबस और पात्रता मानदंड को समझना आवश्यक है। यूपीएससी की आधिकारिक वेबसाइट या अन्य विश्वसनीय स्रोतों पर जाकर सटीक जानकारी प्राप्त करें।
  2. रोजाना अखबार पढ़ें: वर्तमान मामलों के साथ अद्यतन रहने के लिए एक अखबार रोजाना पढ़ना महत्वपूर्ण है। यह सामान्य अध्ययन के लिए एक मजबूत आधार बनाने में मदद करता है। तो, वर्तमान मामलों से अद्यतन रहने के लिए खासतौर से The Hindu या Indian Express जैसे अखबार को रोजाना पढ़ें। महत्वपूर्ण घटनाओं, सरकारी योजनाओं और नीतियों के नोट्स बनाएँ।
  3. अपना वैकल्पिक विषय चुनें: UPSC परीक्षा में आपके पसंद के एक विषय पर दो पेपर होते हैं। उस विषय का चयन करें जो आपको दिलचस्प लगता है और आपकी ताकतों से मेल खाता है। सही विषय का चयन करने के लिए कुछ अनुसंधान करें।
  4. मानक पुस्तकों को पढ़ें: UPSC परीक्षा विभिन्न विषयों की गहरी समझ की आवश्यकता होती है। मानक पुस्तकों और अध्ययन सामग्री का संदर्भ लेना आपको एक मजबूत आधार बनाने में मदद करेगा। NCERT पाठ्यक्रम भी एक अच्छी शुरुआती बिंदु हो सकते हैं। इतिहास, भूगोल, राजनीति विज्ञान, अर्थशास्त्र और विज्ञान जैसे विषयों के लिए शुरुआत में NCERT की पुस्तकें के लिए कक्षा 6 से 12 तक की पुस्तकों से शुरू करें। NCERT की पुस्तकों के अलावा, प्रत्येक विषय के लिए मानक संदर्भ पुस्तकों और अध्ययन सामग्री का चयन करें। आप बढ़ते हुए UPSC उम्मीदवारों से या कोचिंग संस्थानों से अच्छी अध्ययन सामग्री के लिए सलाह ले सकते हैं।
  5. समय सारणी (टाइमटेबल बनाएं): अपने समय सारणी को बनाने के लिए एक वास्तविक अनुसूची तैयार करें जो आपकी अनुकूलता के अनुसार हो। विभिन्न विषयों के बीच अपना समय बांटें और उन क्षेत्रों को ज्यादा समय दें जो आपको चुनौतीपूर्ण लगते हों।
  6. मॉक टेस्ट लेंमॉक टेस्ट लेना आपको आपकी तैयारी स्तर का मूल्यांकन करने और आपकी ताकत और कमजोरी की पहचान करने में मदद करेगा। अपनी प्रदर्शन का विश्लेषण करें और उन क्षेत्रों पर काम करें जहाँ आपको सुधार की आवश्यकता है।
  7. कोचिंग या स्व-अध्ययन करें: कोचिंग संस्थान ज्वाइन करना वैकल्पिक है लेकिन मददगार सकता है। इससे मार्गदर्शन, अध्ययन सामग्री, मॉक टेस्ट और अन्य UPSC अभ्यासीयों से बातचीत करने का मौका मिलता है। यह आपकी निजी चुनौती है कि क्या आप कोचिंग संस्थान ज्वाइन करना चाहते हैं या स्व-अध्ययन पसंद करते हैं। कोचिंग संस्थान आपको एक संरचित अध्ययन योजना और मार्गदर्शन प्रदान कर सकते हैं, लेकिन स्व-अध्ययन आपको अपनी अपनी गति पर अध्ययन करने में मदद करता है। याद रखें कि UPSC की तैयारी धैर्य, निरंतरता और कड़ी मेहनत की आवश्यकता होती है। अपने लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित रखें और स्वयं को प्रेरित और उत्साहित रखें, तभी आप UPSC परीक्षा को पास कर पाएंगे।
  8. लेखन का अभ्यास करें: UPSC मुख्य परीक्षा वर्णनात्मक प्रश्नों से संबंधित होती है। पिछले साल के प्रश्न पत्रों, मॉक टेस्ट, और निबंध लेखन चुनौतियों को हल करके लेखन का अभ्यास करें।
  9. अपनी संचार और साक्षात्कार कौशल को सुधारें: लिखित परीक्षा के अलावा, UPSC उम्मीदवारों के संचार और साक्षात्कार कौशलों की भी जांच करता है। अंग्रेजी में बोलने का अभ्यास करें और समूह चर्चाओं और मॉक साक्षात्कारों में भाग लें। 

 

याद रखें कि UPSC की तैयारी एक लंबी अवधि की प्रक्रिया है और धैर्य और दृढ़ता की आवश्यकता होती है। तो, जल्दी से शुरू करें और अपने लक्ष्य पर केंद्रित रहें। अपने आप को प्रोत्साहित रखें. आप निश्चित रुप से सफल होंगे

 

Comments

Recent Comments